महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने राज्य में किशोर घरों के लिए 2 करोड़ रुपये की वार्षिक निधि को मंजूरी दी

Last Updated: February 13, 2020

Free Current Affairs to Your Email
महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने राज्य में किशोर घरों के लिए 2 करोड़ रुपये की वार्षिक निधि को मंजूरी दी

महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने राज्य में किशोर घरों के लिए 2 करोड़ रुपये की वार्षिक निधि को मंजूरी दी

13 February 2020 Current Affairs: महाराष्ट्र राज्य मंत्रिमंडल ने 12 फरवरी 2020 को राज्य भर के किशोर घरों में बच्चों के कल्याण और पुनर्वास के लिए एक किशोर न्याय कोष को मंजूरी दी। कैबिनेट ने निधि के लिए 2 करोड़ रुपये के वार्षिक बजटीय प्रावधान करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी। इस कोष का उपयोग राज्य भर में 560 से अधिक किशोर घरों में 21,178 से अधिक बच्चों के कल्याण के लिए किया जाएगा।

किशोर न्याय कोष:
- किशोर न्याय अधिनियम, 2015 के अनुसार, संस्थागत देखभाल में बच्चों के लिए किशोर न्याय कोष की स्थापना अनिवार्य है।
- महाराष्ट्र राज्य किशोर न्याय नियम, 2018 में एक समान प्रावधान में कहा गया है कि महिला और बाल कल्याण आयुक्तालय के तहत एक कोष स्थापित किया जाना चाहिए, जो व्यक्तियों, ट्रस्टों और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) से धन स्वीकार करता है।
- नया कोष सरकार को किशोर घरों में बच्चों के लिए वित्त प्रदान करने में सक्षम करेगा।
- निधि का उपयोग उन कार्यक्रमों को लागू करने के लिए किया जाएगा जो किसी भी राज्य या केंद्र सरकार की योजना के तहत शामिल नहीं हैं।

Subscribe to Current Affairs

Enter your email to get daily Current Affairs
Current Affairs PDF