जून तिमाही में एविएशन सेक्टर को USD 3.6 बिलियन तक का नुकसान उठाना पड़ सकता है

Last Updated: March 26, 2020

Free Current Affairs to Your Email
26 March 2020 Current Affairs: विमानन कंसल्टेंसी कैपा इंडिया ने बताया कि भारत के विमानन उद्योग को जून तिमाही में 3-3.6 बिलियन डॉलर का घाटा होने की उम्मीद है, जिसका शीर्षक 'भारतीय विमानन पर COVID-19 के संभावित वित्तीय प्रभाव का अनुमान' है।
नुकसान इसलिए है क्योंकि COVID-19 महामारी के कारण यात्रा प्रतिबंधों की श्रृंखला के बाद एयरलाइंस को भारी समस्या का सामना करना पड़ा है।

मुख्य विशेषताएं:
- पूर्वानुमान के अनुसार, घरेलू वाहक अगली तिमाही में लगभग 1.75 बिलियन डॉलर का नुकसान उठा सकते हैं। हवाई अड्डों और रियायतों में 1.50 अरब डॉलर से 1.75 अरब डॉलर का नुकसान होता है।
- इसी अवधि के दौरान ग्राउंड हैंडलिंग उद्योग को $ 80-90 मिलियन के नुकसान की रिपोर्ट करने की उम्मीद है।
- संभावित सेक्टोरल लॉस के अनुमान यह मानते हैं कि 30 जून तक सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय ऑपरेशन ग्राउंडेड रहेंगे।
- यह भी कहा कि पूरा क्षेत्र अब संकट की स्थिति में है, जो निश्चित रूप से FY2021 को प्रभावित करेगा और संभवतः बहुत अच्छी तरह से परे होगा।
- इसमें बताया गया कि भारतीय एयरलाइंस इतने गंभीर प्रणालीगत झटके के लिए तैयार नहीं हैं।

Subscribe to Current Affairs

Enter your email to get daily Current Affairs
Current Affairs PDF

Monthly Current Affairs PDF